एस्सार आयल बनेंगी नायरा एनर्जी लिमिटेड, भर देश में हैं 4500 पेट्रोल पंप


रूस की दिग्गज पेट्रोलियम रोसनेफ्ट कंपनी  के स्वामित्व वाली एस्सार आयल लि. ने अपनी कॉरपोरेट पहचान बदलकर नायरा एनर्जी लि . करने का फैसला किया है। कंपनी ने आज यह महत्वपूर्ण जानकारी दी। आपको बता दे की रोसनेफ्ट और उसके भागीदारों ने पिछले साल 2017 अगस्त में 12.9 अरब डॉलर के सौदे में एस्सार आयल का अधिग्रहण पूरा किया था , जिससे वह दुनिया के सबसे तेजी से बढ़ते ऊर्जा बाजार में उतर पाई है।


वहीं वैश्विक ट्रेडिंग और लॉजिस्टिक्स कंपनी ट्रैफिगुरा और रूस की UCP इन्वेस्टमेंट समूह के पास तकरीबन 49.13 प्रतिशत हिस्सेदारी है। आपको बता दे की एस्सार आयल गुजरात के वाडिनार में सालाना दो करोड़ टन की रिफाइनरी का परिचालन करती है। देश में एस्सार आयल  कंपनी के 4,473 पेट्रोप पंप हैं। एस्सार आयल की नई मालिक कंपनी का पेट्रोल पंप नेटवर्क को लगभग 6,000 आउटलेट्स तक पहुंचाने का लक्ष्य है।

कंपनी ने बयान में कहा कि एस्सार आयल ने अपनी कॉरपोरेट पहचान को बदलकर नायरा एनर्जी लिमिटेड करने के लिए मंजूरी मांगी है। एस्सार आयल के लिए नई कॉरपोरेट पहचान कंपनी को नया ब्रांड और पहचान बनाने की रणनीति के अनुरूप है। रोसनेफ्ट के पास कंपनी की 49.13 प्रतिशत हिस्सेदारी है। वहीं वैश्विक ट्रेडिंग और लॉजिस्टिक्स कंपनी ट्रैफिगुरा और रूस की यूसीपी इन्वेस्टमेंट समूह के पास 49.13 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

Comments

Popular posts from this blog

Essar Oil to be called Nayara Energy

Mark Tercek, President of The Nature Conservancy to Visit India